top post

भारतीय वायु सेना द्वारा पहली बार मानवीय सहायता और आपदा राहत (HADR) अभ्यास आरंभ किया गया.

भारतीय वायु सेना द्वारा पहली बार मानवीय सहायता और आपदा राहत (HADR) अभ्यास आरंभ किया गया. यह अभ्यास दक्षिण एशिया क्षेत्र के देशों के साथ मिलकर 12 मार्च 2018 को केरल के तट पर आरंभ किया गया.



इस अभ्यास का नाम ‘संवेदना’ है तथा यह दक्षिण एशिया क्षेत्र का पहला सैन्य राहत आपदा अभ्यास है. यह 12 से 17 मार्च तक आयोजित किया जायेगा.



उद्देश्य

इस अभ्यास का मुख्य उद्देश्य मानवीय सहायता और आपदा राहत प्रयासों के समन्वय में सभी हितधारकों को एकीकृत करना है.

इस अभ्यास के लिए सूनामी को ध्यान में रखते हुए ट्रेनिंग दी जा रही है. अभ्यास के लिए भारत के पश्चिमी घाट पर भूकंप के बाद सूनामी के दृश्य बनाए गये हैं तथा वायु सेना को सूनामी के बाद दिए जाने वाले राहत कार्यों के लिए अभ्यास कराया जा रहा है.



अभ्यास के जुड़ी मुख्य बातें

•    इस अभ्यास में श्रीलंका, बांग्लादेश, नेपाल और संयुक्त अरब अमीरात के वायु सेना के प्रतिनिधियों को शामिल किया जा रहा है.

•    दक्षिणी एयर कमांड द्वारा आयोजित इस अभ्यास में, आपदा राहत कार्यों में सेना की भूमिका, योगदान एवं चुनौतियों को भी समझाने का प्रयास किया गया है ताकि आवश्यकता के समय सही कदम उठाये जा सकें.

•    इसमें धरातल पर अभ्यास के साथ-साथ हवा में भी अभ्यास कराया जा रहा है.

महत्व

भारतीय वायु सेना के नेतृत्व में आयोजित हो रहे इस राहत आपदा अभ्यास में पहली बार मानवीय सहायता और आपदा राहत कार्यों को शामिल किया गया है.

इससे संयुक्त मानवीय सहायता और आपदा राहत कार्यों के संचालन के लिए एक बुनियादी ढांचे को स्थापित करने में मदद मिलेगी, जिसे आने वाले समय में किये जाने वाले अभ्यासों से और भी अधिक परिष्कृत किया जाएगा.

इस अभ्यास के बाद दक्षिणी एशिया क्षेत्र में इसी प्रकार के अन्य मानवीय सहायता राहत आपदा अभ्यासों का आयोजन करने में सहायता मिलेगी.

No comments