top post

जानें कौन था शेर शाह सूरी information about Sher Shah Suri in Hindi - शेेरशाह सूरी के बारे में जानकारी

जानें कौन था शेर शाह सूरी?
information about Sher Shah Suri in Hindi





  शूर साम्राज्‍य का संंस्‍थापक अफगान वंशीय शेरशाह सूरी (Sher Shah Suri) था
  इसके बचपन का नाम फरीद खॉ (Fareed Khan) था
  शेरशाह का जन्‍म 1472 ई० में बजवाडा होशियारपुर में हुआ था
  इनके पिता हसन खॉ जौनपुर राज्‍य के सासाराम के जमींदार थे
  फरीद ने एक शेर को तलवार केे एक ही वार से मार दिया था

    इसलिए अफगान शासक सुल्‍तान मुहम्‍मद बहार खॉ लुहानी ने उसे शेेर खॉ की उपाधि प्रदान की थी
    1539 ई० चौसा तथा 1540 ई० में बिलग्राम या कन्‍नौज की लडाई को जीतने के बाद शेेरशाह ने 1540 ई० में          मुलग बादशाह हुमायॅू के बाद दिल्‍ली की गद्दी पर बैठा था
    शेर खॉ ने अपने राजतिलक के समय शेरशाह की उपाधि धारण की थी
    शेरशाह ने 1541 ई० में पटिलपुत्र को पटना नाम से पुन: स्‍थापित किया था
    शेरशाह ने 178 ग्रेन चॉदी का रूपया एवं 380 ग्रेन तावें केे दाम चलवाया
    शेरशाह ने रोहतास गढ के दुर्ग एवं कन्‍नौज के स्‍थान पर शेेरशूर नामक नगर बसाया
    शेरशाह ने भूमि की माप के लिए 32 अंक वाला सिकन्‍दरी गज एवं सन की डन्‍डी का प्रयोग किया
    कबुलित एवं पट्टा प्रथा की शुरूआत शेरशह ने की थी
    ग्राण्‍ड ट्रंक रोड (Grand Trunk Road) का निर्माण शेरशाह ने कराया था
    शेरशाह ने दिल्‍ली में एक दान के लंगर की स्‍थापना की थी
    डाक प्रथा का प्रचलन शेरशाह ने कराया था
    शेरशाह का उत्‍तराधिकारी उसका पुत्र इस्‍लाम शाह था
    शेरशाह की मृत्‍यु 22 मई 1545 ई० को कालिंजर के दुर्ग में अचानक बारूद के विस्‍फोट होनेे से हुई थी


TAGS-

sher shah suri in hindi pdf,

sher shah suri administration in hindi,

sersha suri history,

sher shah suri history pdf,

sher shah suri ka janm,,

sher shah suri ki mrityu kaise hui,

sher shah suri images,

sher shah suri makbara sasaram,

जानें कौन था शेर शाह सूरी?,

इस्लाम शाह सूरी,

सूरी वंश,

शेर शाह सूरी मार्ग,

शेरशाह सूरी का प्रशासन,

शेरशाह सूरी का अंतिम अभियान,

शेरशाह सूरी का मकबरा,
,
शेरशाह सूरी का मकबरा किस शहर में स्थित है,


शेरशाह सूरी की डाक व्यवस्था,

No comments