top post

भारत का स्वतंत्रता संघर्ष one line fact2

        भारत का स्वतंत्रता संघर्ष one line fact2


12 मार्च 1930 ईसवीं को गांधी जी ने अपने 79 समर्थकों के साथ साबरमती स्थित अपने आश्रम से लगभग 322 किलोमीटर दूर डांडी के लिए प्रस्थान किया लगभग 24 दिनों बाद 6 अप्रैल 1930 ईसवीं को दांडी पहुंचकर गांधी जी ने नमक कानून तोड़ा। सुभाष चंद्र बोस ने गांधीजी के नमक सत्याग्रह की तुलना नेपोलियन की एल्बा से पेरिस यात्रा से की ।


8 मार्च 1931 ईसवीं को गांधी इरविन समझौता हुआ इसके बाद गांधीजी ने सविनय अवज्ञा आंदोलन स्थगित कर दिया ।


तीनों गोलमेज सम्मेलन के समय इंग्लैंड के प्रधानमंत्री जेम्स रैमसे मैकडोनाल्ड थे ।


23 मार्च 1931 ईसवीं को सुखदेव ,भगत सिंह एवं राजगुरु को फांसी पर लटका दिया गया।


मई 1934 ईस्वी कांग्रेस सोशलिस्ट पार्टी की स्थापना हुई ।


13 मार्च 1940 ईस्वी को लंदन में पंजाब के सुनाम नामक स्थान के सरदार उधम सिंह ने पंजाब के भूतपूर्व लेफ्टिनेंट गवर्नर डायर की गोली मारकर हत्या कर दी।


24 मार्च 1940 ईसवीं को मुस्लिम लीग लाहौर अधिवेशन में अध्यक्षता करते हुए मोहम्मद अली जिन्ना ने भारत से अलग मुस्लिम राष्ट्र पाकिस्तान की मांग की।


वर्धा 1942 ईस्वी में कांग्रेस ने "अंग्रेजो भारत छोड़ो" प्रस्ताव पारित किया ।


भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत 9 अगस्त 1942 ईसवीं को हुई।


इसी आंदोलन में गांधीजी ने करो या मरो का नारा दिया।


आजाद हिंद फौज का सफलतापूर्वक स्थापना का श्रेय रासबिहारी बोस को दिया जाता है।


कैबिनेट मिशन योजना को मुस्लिम लीग ने 6 जून, 1946 ईस्वी को और कांग्रेस ने 25 जून ,1946 ईस्वी को स्वीकार कर लिया ।


मुस्लिम लीग ने 16 अगस्त 1946 ईसवीं को सीधी कार्यवाही दिवस मनाया ।


27 मार्च 1947 को मुस्लिम लीग ने पाकिस्तान दिवस के रुप में मनाया ।


जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व में अंतरिम सरकार का गठन 2 सितंबर 1946 ईसवीं को हुआ ।


स्वतंत्रता प्राप्ति के समय कांग्रेस के अध्यक्ष जे बी कृपलानी एवं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री क्लीमेंट एटली लेबर पार्टी के थे ।


महात्मा ग़ांधी द्वारा स्थापित हरिजन सेवक संघ के संस्थापक अध्यक्ष घनश्याम दास बिड़ला थे ।


कांग्रेस का प्रथम ब्रिटिश अध्यक्ष जॉर्ज यूल थे ।


अखिल भारतीय किसान सभा की स्थापना लखनऊ में हुई ।


सबसे कम उम्र में फांसी की सजा पाने वाले क्रांतिकारी खुदीराम बोस थे ।


इंकलाब जिंदाबाद का नारा भगत सिंह ने दिया ।


शहीद -ये -आजम नाम से भगत सिंह को जाना जाता है।


महात्मा गांधी को रविंद्रनाथ टैगोर ने सर्वप्रथम महात्मा कहा।


महात्मा गांधी को सर्वप्रथम राष्ट्रपिता कहकर संबोधित सुभाष चंद्र बोस ने किया।


बल्लभ भाई पटेल को सरदार की उपाधि बारदोली सत्याग्रह की सफलता के बाद वहां की महिलाओं की ओर से गांधी जी ने प्रदान की ।


सुभाष चंद्र बोस को सर्वप्रथम नेताजी अडोल्फ़ हिटलर ने कहा था ।


गोखले के आध्यात्मिक एवं राजनीतिक गुरु एम जी रानाडे थे ।


महात्मा गांधी के राजनीतिक गुरु गोपाल कृष्ण गोखले थे ।

सुभाष चंद्र बोस के राजनीतिक गुरु देशबंधु चितरंजन दास थे ।


भारत का बिस्मार्क सरदार बल्लभ भाई पटेल को कहा जाता है ।


19वीं शताब्दी के भारतीय पुनर्जागरण का पिता राजा राममोहन राय को कहा जाता है ।


चर्चिल ने महात्मा गांधी को अर्धनग्न फकीर कहा था।


बिना ताज का बादशाह हर सुरेंद्र नाथ बनर्जी को कहा जाता है ।


ए ओ ह्यूम को "हरमिट ऑफ शिमला "कहा जाता है।


तीनों गोलमेज सम्मेलनों में भाग लेने वाले भारतीय नेता थे डॉक्टर" भीमराव अंबेडकर"।


पाकिस्तान शब्द का जन्मदाता चौधरी रहमत अली थे।


गांधी जी ने क्रिप्स प्रस्ताव पर कहा यह एक आगे की तारीख का चेक है जिसका बैंक नष्ट होने वाला है।


TAGS-

भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन का इतिहास,

भारत के क्रांतिकारी,

भारत की आजादी का इतिहास,

स्वतंत्रता संग्राम में महिलाओं का योगदान,

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम पर निबंध,

भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास,

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम pdf,

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी,
 ,
indian independence struggle,

indian independence movement timeline,

indian freedom struggle essay,

indian independence movement 1857 to 1947 in hindi,

list of freedom movement of india,

india freedom struggle a short history,

freedom struggle of india from 1857 to 1947 pdf,

important events indian freedom struggle 1857 to 1947,

how did india gain independence,
,

No comments